WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

MBA Course kya hai और ,कैसे करे 2023: करियर,कम फीस, योग्यता, एग्जाम, अच्छे कॉलेज जानिए पूरी संपूर्ण जानकारी

भारत में बेहतर करियर दृष्टिकोण से MBA सबसे प्रचलित कोर्स है, विशेषज्ञ गन का कहना है कि MBA हर वह व्यक्ति आसानी से पूरा कर सकता है जो अपने आप में परिपक्व है , यानी दर्द संकल्प, लग्न, कठिन परिश्रम और सफल होने की अच्छा एवं तीन संकल्प पीएम किसी भी नामुमकिन कम को करने की कठोर कड़ी है |

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

भारत में इस क्षेत्र की मांग वर्तमान में सबसे अधिक है , क्योंकि अधिकतर विद्यार्थियों का मानना है कि MBA एक अच्छा कोर्स होने के साथ-साथ एक उम्मीदवार के लिए अच्छा करियर भी प्रदान करता है | इस कोर्स की प्रधानता भारत के साथ-साथ विदेश में भी प्रचलन है |

एमबीए , 19वीं साड़ी के बाद प्रचलन में आया जिसका मुख्य उद्देश्य स्नातक शिक्षा की गुणवत्ता को और अधिक निखारना था | जो आगे चलकर बहुत ज्यादा प्रसिद्ध हुआ, इस कोर्स के माध्यम से विद्यार्थी बेहतर भविष्य को प्राप्त करने लिए सुनिश्चित करता है |

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए क्लिक करें

MBA Overview :-

MBA Features Details 
Course NameMBA
MBA Full FormMaster of Business Administration
Course LevelPost Graduation
Types of MBAFull-Time MBA, Part-Time MBA, Distance MBA, Online MBA, Executive MBA and Integrated MBA
MBA Course FeeINR 2 lakh to 27 lakh से और अधिक भी
MBA Admission ProcessEntrance Exam+ Group Discussion+ Personal Interview
Top MBA Entrance ExamsCAT, MAT, XAT, CMAT, NMAT, ATMA, IIFT, IBSAT
Top MBA CollegesThere are 5000+ colleges in India offering Full-Time MBA. Most popular colleges include IIM Ahmedabad, IIM Bangalore, IIM Calcutta, IIM Lucknow, FMS Delhi, SPJIMR Mumbai, XLRI, IIM Indore, IIM Kozhikode among others
Top MBA SpecialisationsSales, Marketing, Operations, Finance, Human Resources, Digital Marketing and Business Analytics
Average Salary post MBAINR 5 lakh to 25 lakh per annum
Top Recruiters post MBABoston Consulting Group, Mckinsey, Bain & Co, Morgan Stanley, Citibank, JP Morgan Chase, Amazon, Facebook, Google, Adobe, etc.

MBA kya h(क्या है)

एमबीए व्यवसाय(Business) प्रशासन में 2 साल की मास्टर डिग्री का कोर्स है, जो व्यवसाय से संबंधित, शैक्षिक विषयों को अंकित करता है , इस कोर्स के द्वारा Business Management, Marketing Skills, Business Skills आदि को प्रोत्साहित किया जाता है, ताकि इसकी गुणवत्ता को और अच्छे से निखारा जा सके.

MBA व्यावसायिक शिक्षा के गुणवत्ता को और निखारने का विशेष रूप रेखा प्रदान करता है, जिससे उन विषयों को विस्तृत रूप से तैयार किया जाता है. – लेखांकन, विपणन, अनुसंधान, अभियान प्रबंधन आदि विषयों से परिचित करवाने के लिए MBA का प्रयोग मुख्य रूप से किया जाता है. यानि इस Course के द्वारा विद्यार्थी इन सभी विषयों में प्रमुखता हासिल करते हैं जो उन्हें एक उच्च लेवल पर लेकर जाता है |

MBA का फुल फॉर्म

एमबीए का पूरा नाम यानि अंग्रेजी में फुल फॉर्म “मास्टर ऑफ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन“, “Master Of Business Administration” होता है.

MBA फुल फॉर्म को निम्न प्रकार व्यक्त कर सकते है.

  • M=Master
  • B=Business
  • A=Administration
  • Business of Master Administration
  • व्यवसाय प्रबंधन में स्नातकोत्तर (MBA)

अगर एमबीए को हिंदी में उच्चारण किया जाए, तो इससे साफ महसूस होता है कि यह कोर्स बिज़नेस को एक नई ऊंचाई प्रदान करने के लिए बनाया गया है. MBA Course को पूरा कर इस इंडस्ट्री में एक नया कीर्तिमान स्थापित किया जा सकता है. 

भारत में टॉप एमबीए कॉलेज

भारत में बहुत सारे कॉलेज एमबीए कोर्स ऑफर करते हैं। कुछ टॉप कॉलेज की लिस्ट इस प्रकार है: 

  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, अहमदाबाद।
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, कलकत्ता
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, कोझिकोड
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट इंदौर
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, लखनऊ
  • नार्मल इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, अहमदाबाद
  • SIBM सिम्बायोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट
  • XIMB जेवियर इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, भुवनेश्वर
  • XLRI जमशेदपुर ज़ेवियर रिलेशन्स इंस्टिट्यूट

Types Of MBA (एमबीए कितने प्रकार के होते हैं )

नीचे MBA के प्रकार को मेंशन किया गया है जो विभिन्न प्रकार में उपलब्ध है: –

Full Time MBA
Part Time MBA
Distance MBA
Online MBA
Executive MBA
5 year- Integrated MBA
Note:

एमबीए कोर्स विभिन्न मोड और स्वरूपों में उपलब्ध है. परंपरागत रूप से, दो साल की अवधि का फुल टाइम एमबीए प्रबंधन के उम्मीदवारों के बीच लोकप्रिय विकल्प रहा है, हालांकि पिछले कुछ वर्षों में, कार्यकारी एमबीए और ऑनलाइन एमबीए ने लचीलेपन के इच्छुक उम्मीदवारों के बीच अत्यधिक लोकप्रियता हासिल की है.

MBA Education Qualification(MBA करने के लिए योग्यता)

  • 12th पास होना

मास्टर ऑफ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स करने के लिए विद्यार्थी को कम से कम 12th पास होना आवश्यक होता है, दरअसल, एमबीए ग्रेजुएशन के बाद ही किया जाता है, जिसमें 2 वर्ष का समय लगता है. लेकिन कोई उम्मीदवार अगर इस कोर्स को 12वी के बाद करना चाहता है, तो इसे पूरा करने के लिए उन्हें 5 साल का समय लगता है.

  • MBA Rules के अनुसार 3 साल, पहले उन्हें बिज़नेस के सभी Skills सिखाया जाता है. शेष 2 वर्षों में बिज़नेस से संबंधित सभी तरह की जानकारी मुहैया कराया जाता है.

MBA योग्यता

किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी स्ट्रीम में ग्रेजुएशन
ग्रेजुएशन में में न्यूनतम मार्क्स 50% अनिवार्य
अंतिम वर्ष के ग्रेजुएट उम्मीदवार भी MBA के लिए योग्य है.
Marketing Skills अनिवार्य

लेकिन एमबीए ग्रेजुएशन के बाद किया जाए, तो उन्हें सिर्फ 2 वर्ष समय देना होता है. जिसमें कोर्स से संबंधित बिज़नेस की सभी आवश्यक जानकारी प्रदान किया जाता है | . कोई भी ग्रैजुएट कैंडिडेट एमबीए करने के लिए योग्य होता है. बशर्ते ग्रेजुएशन में कम से कम 50% मार्क्स होना चाहिए. |

MBA के लिए संभावित योग्यता

  • 12वी से भी संभव है.
  • ग्रेजुएशन डिग्री (जरूरी है)
  • ग्रेजुएशन में 50% मार्क्स (कम से कम)
  • कम्युनिकेशन स्किल्स 
  • बिज़नेस की समझ
  • इंग्लिश स्किल 
  • कोई भी ग्रेजुएशन/ मास्टर डिग्री 
  • कुछ नया सीखने की लगन 

आवश्यक नहीं कि बताए गए सभी योग्यता किसी एक मनुष्य में हो, लेकिन एमबीए करने के लिए इनमें से कुछ का होना अति आवश्यक है.

MBA में एडमिशन कैसे ले?

Step-1 : भारत के टॉप एमबीए कॉलेजों में एमबीए प्रवेश प्रक्रिया हर साल जुलाई / अगस्त के महीने में खुलती है. और खुलने की तारीख से 2-3 महीने बाद बंद हो जाती है. जबकि IIFT, IIM, XLRI, NMIMS, SIBM आदि जैसे कॉलेजों के बीच जुलाई-अगस्त में अपनी प्रवेश प्रक्रिया खोलते हैं.

Step- : एमबीए में निम्न प्रकार से आवेदन कर सकते है जो पूरी तरह एंट्रेंस एग्जाम पर आधारित होता है.

Step-2 : एमबीए कॉलेजों में एमबीए प्रवेश प्रक्रिया चार चरणों वाली है. प्रवेश प्रक्रिया के ये 4 चरण IIM सहित सभी MBA कॉलेजों पर लागू होते हैं. जिसका आयोजन सबसे उपयुक्त उम्मीदवार का चयन करने के लिए प्रत्येक वर्ष किया जाता है.

आवश्यक दस्तावेज

आवश्यक दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई है-

  • आधिकारिक शैक्षणिक ट्रांसक्रिप्ट  
  • स्कैन किए हुए पासपोर्ट की कॉपी
  • IELTS या TOEFL, आवश्यक टेस्ट स्कोर 
  • प्रोफेशनल/एकेडमिक LORs
  • SOP 
  • निबंध (यदि आवश्यक हो)
  • पोर्टफोलियो (यदि आवश्यक हो)
  • अपडेट किया गया सीवी/रिज्यूमे
  • एक पासपोर्ट और छात्र वीज़ा  
  • बैंक विवरण

MBA कैसे करें संक्षिप्त में इस प्रकार है

Step 1: Register & Apply for MBA Entrance Exam
एमबीए कॉलेजों में प्रवेश पाने के इच्छुक उम्मीदवारों को निर्दिष्ट पंजीकरण विंडो के भीतर CAT/XAT/IIFT/NMAT/SNAP आदि जैसे Entrance Exam के लिए आवेदन करे.
Step 2: Appear in MBA Entrance Exam
CAT/XAT/IIFT/NMAT/SNAP में पास होने अनिवार्य
Step 3: Shortlisting Process
एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करने के बाद शॉर्टलिस्ट process शुरू होती है.
Step 4: Final Admission Process
सभी शॉर्टलिस्ट किए गए उम्मीदवारों को ग्रुप डिस्कशन (GD), लिखित योग्यता परीक्षा (WAT) और उसके बाद पर्सनल इंटरव्यू (PI) में शामिल होना होगा. अंतिम चयन दौर में उनके प्रदर्शन के आधार पर, प्रवेश स्कोर, शैक्षणिक प्रोफ़ाइल और विविधता, कार्य अनुभव और लिंग विविधता को दिए गए वेटेज के आधार पर, अंतिम मेरिट सूची तैयार होगी और उसके बाद एडमिशन शुरू होती है.

MBA के लिए एंट्रेंस एग्जाम

MBA में प्रवेश लेने के लिए विद्यार्थी को एंट्रेंस एग्जाम से होकर गुजरना होता है. लेकिन यह सभी कॉलेजों के लिए जरूरी नहीं होता. इंडिया में, बहुत सारे ऐसे कॉलेज हैं, जो बिना एंट्रेंस एग्जाम के, जरूरी योग्यता और सर्टिफिकेशन के आधार पर भी एडमिशन ले लेते हैं. 

अगर आप एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर एमबीए में एडमिशन लेना चाहते हैं. पहले आपको एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करना होता है. उसके बाद Selected College में काउंसलिंग के जरिए, आपको एडमिशन मिलता है.

Note:- इस कोर्स को डिस्टेंस (Distance) से भी किया जा सकता हैं.

कुछ ऐसे भी कॉलेज होते हैं. जहां एमबीए में एडमिशन लेने के लिए जरूरी योग्यता के साथ-साथ किसी कंपनी से 1 या 2 साल का Work Experience होना जरूरी होता है. जिसके आधार पर इंडिया के प्रसिद्ध कॉलेज में एडमिशन होता है.

S. No.Entrance ExamFull-Form
1CATCommon Admission Test
2XATXavier Aptitude Test
3GMATGraduate Management Aptitude Test
4CMATCommon Management Admission Test
5MATManagement Aptitude Test
6ATMAAIMS TEST FOR MANAGEMENT ADMISSIONS
7NMATNMIMS Management Aptitude Test
8SNAPSymbiosis National Aptitude Test
9IIFTIndian Institute of Foreign Trade
10IRMAInstitute of Rural Management Anand
11MICATMICA Admission Test
12TISSNETTata Institute of Social Sciences
13IBSAT ICFAI Business Studies Aptitude Test

MBA क्यों करें?

MBA kaise kare जानने के लिए यह जानना ज़रूरी है कि इस कोर्स को क्यों करें, नीचे जानकारी दी गई है-

  • मैनेजमेंट स्किल्स विकसित करना: बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन का मास्टर कोर्सेज का ज्ञान और केस स्टडी प्रदान करने पर केंद्रित है जो एक फर्म या कंपनी को प्रबंधित करने में मदद करता है। इसमें खाते, वित्तीय प्रबंधन, नेतृत्व कौशल, विपणन ज्ञान और बहुत कुछ शामिल हैं।
  • MBA में विशेषज्ञता: मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के पास विभिन्न विशेषज्ञताएं हैं जो छात्रों को व्यवसाय प्रबंधन के किसी विशेष खंड पर ध्यान केंद्रित करने में मदद करती हैं। MBA विशेषज्ञताओं में एमबीए फाइनेंस, MBA HR, MBA मार्केटिंग, MBA व्यवसाय विश्लेषिकी, MBA IT आदि शामिल हैं।
  • प्लेसमेंट और सैलरी: रिपोर्ट्स के मुताबिक एमबीए की डिग्री करने के बाद लगभग हर छात्र को हाइक मिलती है। कॉलेज छात्रों को प्लेसमेंट के अवसर प्रदान करते हैं जहां छात्रों को अपनी सपनों की कंपनियों में से चुनने का मौका मिलता है। MBA की डिग्री पूरी करने के बाद औसत वेतन INR 7-9 लाख तक होता है जो कॉलेज के आधार पर INR 15-20 लाख तक बढ़ सकता है।
  • कनेक्शन बनाना: प्लेसमेंट के अवसरों के अलावा कॉलेज अन्य छात्रों या पूर्व छात्रों के साथ बातचीत करने के लिए एक मंच भी प्रदान करता है। ये कनेक्शन छात्रों को अपनी पसंद की कंपनियों में जाने या मनचाहा वेतन पाने में मदद करते हैं। लोग एक दूसरे की जरूरत में मदद करने के लिए ऐसे कनेक्शन का लाभ उठाते हैं।

MBA प्रोग्राम कितने प्रकार के होते है?

मास्टर ऑफ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन प्रोग्राम मुख्यतः 5 प्रकार के होते है, जिसकी अवधि प्रोग्राम के अनुसार अलग-अलग होता है. MBA 2 वर्ष का Course होता है. लेकिन इस प्रोग्राम का अवधि और फ़ीस दोनों अलग-अलग होते हैं. इसलिए जरूरी नहीं कि एमबीए केवल 2 का वर्ष ही किया जाए.

जो एमबीए, 2 वर्ष की अवधि से पहले करना चाहते है. वो निम्न प्रोग्राम का चयन कर सकते हैं. जैसे 1-year Full-Time, एमबीए (MBA) प्रोग्राम की अवधि 12 महीने से 15 महीने के बीच में होता है. लेकिन इस प्रोग्राम की फ़ीस 2-year Full-Time MBA प्रोग्राम से अधिक होता है. 

जिन्हें कम समय में एमबीए की डिग्री चाहिए होती है और बिज़नेस करने के लिए व्यवसाय से संबंधित पूरी जानकारी भी चाहिए होती है. वैसे उम्मीदवार के लिए यह प्रोग्राम होता है. यह सेमेस्टर वाइज विभाजित नहीं होता है. इसमें इंटर्नशिप  की भी अवधि कम होता है. 

ठीक इसी प्रकार इन चारों का भी अपना अलग-अलग विशेषता है, जैसे 2-year Full-Time MBA चार सेमेस्टर में विभाजित होता है. इस प्रोग्राम को चयन करने वाले विद्यार्थी के पास 2-3 वर्ष का वर्क एक्सपीरियंस होता है आदि. 

  • 1-year Full Time
  • 2-year Full Time 
  • Online MBA
  • Part-Time MBA
  • Executive MBA OR E-MBA

एमबीए कोर्स के लिए आवश्यक स्किल्स

एमबीए उम्मीदवारों के पास कुछ आवश्यक स्किल्स होनी आवश्यक है, जिनकी विस्तृत जानकारी नीचे दी गई है:

  • मैनेजरियल स्किल्स: एमबीए कोर्स वाले उम्मीदवार के पास कई असाइनमेंट और जिम्मेदारियों को संभालने के लिए आवश्यक स्किल होनी आवश्यक है। मैनेजरियल स्किल आपको टीम लीड करने की क्षमता देगी।
  • लर्निंग स्किल: आपके पास लर्निंग स्किल बहुत आवश्यक है तभी आप नई चीजें सिख पायेंगे। इसके लिए आपको होने वाले परिवर्तनों से अपडेट रहना आवश्यक है।
  • एनालिटिकल स्किल: बिज़नेस के अलावा, एमबीए कोर्स में एनालिटिकल स्किल भी शामिल हैं। इस क्षेत्र में आपको विभिन्न प्रकार के डाटा को देखना होता है इसके लिए आपके पास एनालिटिकल स्किल होनी आवश्यक है।
  • कम्युनिकेशन स्किल: आप किसी भी क्षेत्र में हो आपके पास बेहतर कम्युनिकेशन स्किल होनी बहुत आवश्यक है। इस क्षेत्र ऐसा है जिसमें आपको टीम लीड करने की आवश्यकता होती है क्योंकि आप एक मैनेजर के रूप में काम कर रहे होते हैं, तो ऐसे में कम्युनिक्टाइव स्किल की महत्ता और बढ़ जाती है।
  • डिसिजन मेकिंग स्किल: इस क्षेत्र में आपके सामने कई बार ऐसी स्थिति आ सकती है जहाँ आपको फैसला लेना हो। ऐसी स्थिति में आपके पास डिसिजन मेकिंग स्किल होनी चाहिए ताकि आप टीम की आवश्यकता को समझ कर सही डिसिजन ले सकें।

MBA कोर्स में स्पेशलाइजेशन

Masters of business administration नाम से पता चलता है की यह बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन में कराई जाने वाली मास्टर डिग्री है। इसमें आपको कई तरह के विषय के बारे में पढ़ाया जाता है जैसे किए काउंटिंग, एप्लाइड स्टेटिस्टिक्स, बिज़नेस कम्युनिकेशन, बिज़नेस लॉ आदि। नीचे MBA स्पेशलाइजेशन की लिस्ट दी गई हैं-  

  • फाइनेंस  
  • मार्केटिंग  
  • रिसोर्स मैनेजमेंट   
  • इंटरनेशनल बिज़नेस  
  • इनफार्मेशन मैनेजमेंट  
  • ऑपरेशन मैनेजमेंट  

MBA की फ़ीस कितनी होती है?

इंडिया में एमबीए की कोर्स फीस लगभग दो लाख से लेकर 30 लाख तक होती है. MBA फीस सरकारी कॉलेज और विश्वविद्यालय में, प्राइवेट कॉलेज की तुलना में कम होता है. 

MBA कोर्स फीस 500000 से 800000 के बीच और 15 लाख से 40 लाख के बिच भी हो सकता है. लेकिन शर्त यह है कि आप कौन-सा प्लेटफार्म पसंद करते हैं. 

भारत में एमबीए की फीस बहुत सारे फैक्टर पर निर्भर करता है. जैसे infrastructure, hostel facility, extra-curricular activities and pedagogy आदि, यानी कॉलेज, यूनिवर्सिटी, इंस्टीट्यूट आदि अपने फैसिलिटी के अनुसार कोर्स की फीस डिफाइन करते हैं. 

इसलिए, विद्यार्थी को अपने फाइनेंसियल स्थिति के अनुसार कॉलेज ढूंढना चाहिए और इसके साथ-साथ वहां की सभी फैसिलिटी से भी अवगत होना चाहिए ताकि बाद में वह आवश्यक निर्णय ले सकें. 

  • Regular MBA Fees- 5-15 लाख 
  • Distance MBA Fees- 1+ लाख प्रत्येक वर्ष 

MBA कोर्स types के अनुसार फीस:

Types of MBAAdmissionFees (INR)
Executive MBAMerit/ Entrance Based15,00,000 – 27,00,000
Distance MBAMerit/Entrance-Based40,000 – 70,000
Online MBAMerit-Based40,000 – 50,000
Part-time MBAMerit/Entrance-BasedINR 10,00,000 – 17,00,000

MBA में करियर

मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स पूरा करने के बाद विद्यार्थी के पास बहुत बड़ा Career फील्ड होता है. वह किसी भी एमबीए से संबंधित क्षेत्र का चयन सकता है जिसमे वे इच्छुक हो. इस इंडस्ट्री का मतलब है व्यवसाय को एक नई ऊंचाई देना होता है. जाहिर सी बात है एमबीए में करियर स्कोप बहुत बड़ा होगा.

लेकिन अगर व्यक्तिगत कैरियर स्कोप के बारे में बात की जाए, तो इस फील्ड से एमबीए किए हुए कैंडिडेट नीचे दिए गए कुछ प्रमुख जॉब प्रोफाइल पर काम कर सकते हैं जिसमें उन्हें स्पेशलाइजेशन प्राप्त है.

  • Banks 
  • Tourism Industry
  • Management Analyst
  • Healthcare Administrator
  • Multinational Companies 
  • Industrial Houses
  • Information Systems Manager
  • financial analyst
  • Public Works
  • Personal Business
  • Accountant Operational Research analyst
  • Educational Institutes
  • Market Research Analyst
  • Business Operations Manager
  • Competitive Marketing
  • Business Marketing
  • Online Marketing
  • Analytical Marketing
  • Customer Relationship Marketing
  • Advertising Management
  • Product and Brand Management
  • Retailing Management

विदेश में टॉप एमबीए कॉलेज

आज के समय में बहुत से छात्र विदेश जाकर पढ़ाई करना चाहते हैं, उन छात्रों के लिए विदेश में टॉप एमबीए कॉलेज की लिस्ट इस प्रकार हैं:

दुनिया के बेस्ट MBA कॉलेजजगहसालाना ट्यूशन फीस
व्हार्टन स्कूलअमेरिकाUSD 1.15 लाख (INR 86.07 लाख)
स्टैनफोर्ड ग्रेजुएट स्कूल ऑफ बिजनेसअमेरिकाUSD 74,706 (INR 55.69 लाख)
प्रबंधन के MIT स्लोन स्कूलअमेरिकाUSD 1.38 लाख (INR 1.03 करोड़)
हार्वर्ड बिज़नेस स्कूलअमेरिकाUSD 1.11 लाख (INR 83.15 लाख)
लंदन बिजनेस स्कूलयूकेGBP 92,735 (INR 94.18 लाख)
HEC पेरिसफ्रांसEuro 78,000 (INR 67.36 लाख)
शिकागो बूथ स्कूल ऑफ बिजनेसअमेरिकाUSD 73,440 (INR 54.75 लाख)
IESE बिजनेस स्कूलस्पेनEuro 93,500 (INR 80.75 लाख)
जज बिजनेस स्कूलयूकेGBP 61,000 (INR 61.95 लाख)
SAID बिजनेस स्कूलयूकेGBP 94,800 (INR 96.28 लाख)
ESADE बिजनेस स्कूलस्पेनEuro 40,001 (INR 34.50 लाख)
येल मैनेजमेंट स्कूलअमेरिकाUSD 1.,02 (INR 76.22 लाख)
इंपीरियल कॉलेज बिजनेस स्कूलयूकेGBP 57,200 (INR 58.09 लाख)
SDA बोकोनी स्कूल ऑफ मैनेजमेंटइटलीEuro 57,045 (INR 49.20 लाख )

 अनुमानित सैलरी 

इंडिया में, एमबीए ग्रैजुएट उम्मीदवार को शुरुआत में 3,00,000 से ,600,000 के बीच वार्षिक सैलरी हो सकती है लेकिन जैसे जैसे आपकी एक्सपीरियंस बढ़ता जाएगा ठीक इसी प्रकार वार्षिक सैलरी भी बढ़ती जाएगी.  विदेशों में यही आंकड़ा 5 लाख से 9 लाख के बीच में होता है.

आवश्यक नहीं कि यही सैलरी आपको भी मिले क्योंकि सैलरी पैकेज कंपनी के अनुसार तय होता है,  इंडस्ट्री के अनुरूप आपकी सैलरी अलग अलग हो सकता है. अगर मासिक सैलरी की बात करे तो शुरू में 20 हजार से 45 हजार के आसपास मिल सकता है.

MBA Job Postएमबीए की सैलरी (वार्षिक)
Finance Manager9-15 लाख
Marketing Manager10-15 लाख
Sales Manager10-20 लाख
Human Resources Manager4-9 लाख
Operations Manager7-12 लाख
Product Manager15-25 लाख
Data Analytics Manager14-25 लाख
Project Manager13-20 लाख
Telecom Manager7-15 लाख

ऊपर अंकित सैलरी mba kya hota hai के माध्यम से पढ़ा, जो संभावित है, वास्तव में इससे अलग भी हो सकते है.

MBA सिलेबस

एमबीए का सिलेबस अलग-अलग कोर्स और यूनिवर्सिटी के अनुसार अलग-अलग होता है। नीचे एमबीए के लिए एक सामान्य सिलेबस नीचे दिया गया है:

एमबीए सिलेबस – सेमेस्टर 1

बिज़नेस कम्युनिकेशनमार्केटिंग मैनेजमेंट
ऑर्गेनाइजेशनल बिहेवियरह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट
कंप्यूटर एप्लीकेशन एंड मैनेजमेंट इन्फॉर्मेशन सिस्टमक्वांटिटेटिव मेथड
फाइनेंशियल एकाउंटिंगमैनेजरियल इकोनॉमिक्स

एमबीए सिलेबस – सेमेस्टर 2

बिज़नेस रिसर्च मेथडऑपरेशन मैनेजमेंट
मैनेजमेंट साइंसमैनेजमेंट एकाउंटिंग
इकोनॉमिक्स एनवायरनमेंट ऑफ़ बिज़नेसप्रोडक्शन ऑपरेशन्स एंड SCM
आर्गेनाइजेशन इफेक्टिवनेस एंड चेंजलीगल आस्पेक्ट्स ऑफ़ बिज़नेस

एमबीए सिलेबस – सेमेस्टर 3

बिज़नेस एथिक्स एंड कॉर्पोरेट सोशल रिस्पोंसिबिलिटीस्ट्रेटेजिक एनालिसिस
इलेक्टिव कोर्स IIइलेक्टिव कोर्स I
लीगल एनवायरनमेंट ऑफ़ बिज़नेसडिजिटल मार्केटिंग
इलेक्टिव कोर्स IIIइलेक्टिव कोर्स IV

एमबीए सिलेबस – सेमेस्टर 4

कॉर्पोरेट गवर्नेंसएन्त्रेप्रेंयूर्शिप डेवलपमेंट
इलेक्टिव कोर्स 1साइबर सिक्योरिटी
इलेक्टिव कोर्स 2इलेक्टिव कोर्स 3
इलेक्टिव कोर्स 4इलेक्टिव कोर्स 5

एमबीए के लिए स्पेशलाइजेशन के अनुसार सिलेबस

एमबीए सिलेबस नीचे दिया गया है-

MBA HR

  • फंडामेंटल्स ऑफ HR मैनेजमेंट
  • सर्विस सेक्टर में HRM
  • मैनेजिंग रिडंडेंसी
  • परफॉरमेंस मैनेजमेंट 

MBA IT

  • मैनेजमेंट में कंप्यूटर एप्लिकेशंस
  • बिग डेटा
  • डेटा माइनिंग

MBA मार्केटिंग

  • ह्यूमन रिसोर्स
  • बिज़नेस मैनेजमेंट
  • मार्केटिंग मैनेजमेंट
  • कंज्यूमर बिहेवियर

MBA फाइनेंस

  • फाइनेंशियल रिपोर्टिंग
  • मैनेजरियल एकाउंटिंग
  • पोर्टफोलियो मैनेजमेंट
  • फाइनेंशियल रिस्क मैनेजमेंट

MBA कोर्स के प्रकार 

एमबीए कोर्स के प्रकार नीचे दिए हैं जिन्हें आप चुन सकते हैं-

  • 2 साल का फुल MBA प्रोग्राम
  • पार्ट टाइम MBA
  • इवनिंग (सेकंड शिफ्ट) MBA प्रोग्राम
  • मॉडुलर MBA प्रोग्राम
  • एग्जीक्यूटिव MBA प्रोग्राम/ EMBA प्रोग्राम
  • फुल टाइम एग्जीक्यूटिव MBA प्रोग्राम
  • डिस्टेंस लर्निंग MBA प्रोग्राम
  • ब्लेंडिड लर्निंग प्रोग्राम
  • MBA डुअल डिग्री प्रोग्राम
  • मिनी MBA प्रोग्राम

आप AI Course Finder की मदद से अपनी प्रोफाइल के अनुसार सही यूनिवर्सिटी और अपनी पसंद का कोर्स चुन सकते हैं।

अक्सर पूछे जाने वला सामन्य प्रश्न: FAQs

Q. MBA में क्या सिखाया जाता है?

मास्टर ऑफ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन यानि MBA में बिज़नेस से जुड़ी जानकारी जैसे बिज़नेस मैनेजमेंट, मार्केटिंग, बिज़नेस स्किल, ह्यूमन बिहेवियर आदि सिखाया जाता है.

क्या एमबीए के लिए CAT अनिवार्य है?

CAT सबसे पसंदीदा MBA एंट्रेंस एग्जाम है, लेकिन यह MBA में प्रवेश के लिए एकमात्र एंट्रेंस एग्जाम नहीं है। भारत में MBA में एडमिशन लेने के लिए और भी एंट्रेंस एग्जाम जैसे MAT, XAT, NMAT, SNAP, GMAT है।  

Q. एमबीए करने से क्या फायदा है?

एमबीए करने से उच्च नौकरी के साथ-साथ बिज़नस करने के विभिन्न skills प्राप्त होता है जो किसी भी स्थिति में अपने को बेहतर दिशा में आगे बढ़ने का मौका देता है.

Q. एमबीए कितने साल का होता है?

MBA दरअसल 2 वर्ष का होता है. लेकिन प्रोग्राम के अनुसार ये 2 से 5 वर्ष का भी हो जाता है. MBA 1 वर्ष में भी पूरा किया जा सकता है. लेकिन इसके लिए अलग कोर्स प्रोग्राम चयन करना पड़ता है.

क्या मैं डिस्टेंस एजुकेशन से एमबीए कर सकता हूँ?

जी हां, आप डिस्टेंस एजुकेशन से एमबीए कर सकते हैं। भारत और विदेश में कई कॉलेज और यूनिवर्सिटीज हैं, जो कॉरेस्पोंडेंस, डिस्टेंस लर्निंग और ऑनलाइन प्रोग्राम्स के माध्यम से MBA कराते हैं जैसे – एमिटी यूनिवर्सिटी, इग्नू, लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी, लंदन बिजनेस स्कूल, स्टैनफोर्ड ग्रेजुएट स्कूल ऑफ बिजनेस आदि। 

Q. एमबीए करने में कितना पैसा लगता है?

यदि एंट्रेंस एग्जाम क्लियर कर किसी कॉलेज में एडमिशन लेते है, तो फीस कम हो सकती है. लेकिन सामान्य रूप से एडमिशन प्राप्त करना हो, तो MBA का फीस 5 लाख से 30 लाख तक हो सकती है. यह फीस कॉलेज पर प्रोग्राम पर भी निर्भर करता है कि आप किस प्रोग्राम से MBA करते है.

Q. एमबीए में कौन कौन से कोर्स होते हैं?

MBA in Finance काफी पॉपुलर कोर्स है. लेकिन इसके अलावा भी कुछ ऐसे कोर्स है जो जॉब के दृष्टिकोण से बेहद महत्वपूर्ण है.

Leave a Comment

close